इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच मैच से पहले हुई ऐसी हरकत के नाराज हो गए माइकल होल्डिंग,अंग्रेजों पर लगा दिया ये आरोप

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच मैच से पहले हुई ऐसी हरकत के नाराज हो गए माइकल होल्डिंग,  अंग्रेजों पर लगा दिया ये आरोप

वेस्टइंडीज (West indies) के महान तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग (Michael Holding) अश्वेत लोगों के साथ किए जाने भेदभाव पर मुखर रूप से बोलते रहे हैं और लगातार अपनी बात रखते रहते हैं. वह चाहते हैं क्रिकेट की दुनिया भी इस बारे में मुखर रूप से बोले और ऐसा नहीं होता है तो होल्डिंग अपनी नाराजगी जाहिर करते हैं. एक बार फिर ऐसा हुआ है. होल्डिंग ने न्यूजीलैंड के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड क्रिकेट टीम के ‘मोमेंट ऑफ यूनिटी (एकजुटता दिखने का क्षण)’ की आलोचना करते हुए कहा कि यह ‘ब्लैक लाइव्स मैटर (बीएलएम)’ आंदोलन का समर्थन नहीं कर रहा था, बल्कि ‘ऑल लाइव्स मैटर (सभी का जीवन मायने रखता है)’ से जुड़ी सोच को दर्शा रहा है. उन्होंने एक तरह से इंग्लैंड पर मुद्दे को भटकाने के आरोप लगाए हैं.

इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने पिछले साल वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के दौरान बीएलएम (अश्वेत लोगों का जीवन मायने रखता है) आंदोलन के समय घुटने नहीं टेकने का फैसला करते हुए किसी भी नस्लवाद, धार्मिक असहिष्णुता, लिंगवाद और अन्य भेदभाव के खिलाफ संदेश वाली टी-शर्ट पहनी थी. होल्डिंग क्रिकेट और व्यापक समुदाय में समानता का समर्थन करते हैं और उनका मानना है कि इंग्लैंड के खिलाड़ी बीएलएम आंदोलन का समर्थन करने के बजाय फिर से ‘ऑल लाइव्स मैटर’ जैसा दिखावा कर रहे हैं. इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दो जून से शुरू हुये पहले टेस्ट मैच के दौरान भी भेदभाव के खिलाफ ‘मोमेंट ऑफ यूनिटी’ का संदेश देता हुए टी-शर्ट पहनी थी.

बीएलएम का समर्थन नहीं

होल्डिंग ने स्काई स्पोर्ट्स से कहा, ‘‘ इंग्लैंड (क्रिकेट) टीम ‘मोमेंट ऑफ यूनिटी’ के साथ अभी क्या कर रही है, यह ’ब्लैक लाइव्स मैटर’ का समर्थन नहीं कर रहा है. जब मैं कहता हूं ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ तो आप कहते है ‘ ऑल लाइव्स मैटर.’’

इस 67 साल के पूर्व दिग्गज ने कहा है कि आलोचनओं के बाद भी इंग्लैंड की फुटबॉल टीम के द्वारा घुटनों के बल बैठ कर ’ब्लैक लाइव्स मैटर’ के समर्थन की तारीफ की. पिछले साल अमेरिका में श्वेत पुलिस अधिकारी के दमन से अश्वेत जॉर्ज फ्लायड की मौत के बाद दुनिया भर में नस्लवाद के मुद्दे पर बहस शुरू हुई थी।