टीम इंडिया के चयनकर्ताओं ने इन 2 बड़े खिलाड़ियों के साथ कर दी नाइंसाफी? गांगुली हुए दुःखी

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान गांगुली टीम इंडिया में हो रहे बदलाव को लेकर बहुत दुखी है। उनके अनुसार लगातार खिलाड़ियों को बार-बार टीम से अंदर बाहर करना अच्छा नहीं है। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ T20 टीम में कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल को बाहर करने पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं।

सौरव गांगुली ने द प्रिंट को दिए इंटरव्यू में कहा कि अलग फॉर्मेट के लिए अलग खिलाड़ी रखना सही बात नहीं है। आगे उन्होंने कहा, ‘मैंने बस सलाह दी है, आपको ऐसे खिलाड़ियों खिलौना है जो सभी फॉर्मेट में खेलें।

उन्होंने आगे कहा मैं स्थायित्व के पक्ष में हूं। ऐसा नहीं होना चाहिए कि जून में और खिलाड़ी खेले और दिसंबर में कोई और। मैं बार-बार खिलाड़ियों को टीम के अंदर बाहर करने के खिलाफ हूं।

आपको जानकारी के लिए बता दें वेस्टइंडीज दौरे के लिए चयनकर्ताओं ने जो टीम चुनी गई है उसमें विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, के एल राहुल, ऋषभ पंत और रवींद्र जडेजा ही ऐसे खिलाड़ी हैं जो तीनों फॉर्मेट में खेलेंगे। इस पर सौरव गांगुली ने कहा, ‘ठीक है बुमराह को आराम दिया गया है परंतु मुझे ये नहीं पता है कि युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव टी20 टीम में क्यों नहीं चुना गया है उन्होंने क्या गलत किया है।

गांगुली की टीम इंडिया को सलाह:

पूर्व कप्तान गांगुली ने भारतीय टीम को सलाह देते हुए कहा हमें विराट, रोहित और बुमराह और शमी से सीखने की जरूरत है। टीम को सारा दबाव हटा देना चाहिए में चाहता हूं कि पूरी टीम के खिलाड़ियों, टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ताओं के बीच खुलकर बातचीत होनी चाहिए।हमें छोटे-छोटे प्रदर्शन नहीं बड़े प्रदर्शन करना है।