Loading...

भारतीय क्रिकेट टीम में इस समय विश्वस्तरीय गेंदबाजों की कोई कमी नहीं है और जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, ईशांत शर्मा, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा जैसे खिलाड़ी इस सूची में शामिल हैं। टीम इंडिया में इस समय ना तो तेज गेंदबाजों की कोई कमी है और ना ही स्पिनर गेंदबाजों की। वर्ल्ड क्रिकेट में भारत की धाक बल्लेबाजों के दम पर तो है ही, परन्तु अब गेंदबाजों को भी कम नहीं माना जा सकता।

खैर ये तो बात रही भारतीय गेंदबाजों की, मगर स्टीव स्मिथ विश्व क्रिकेट के वो बल्लेबाज है, जो वर्तमान में सबसे कामयाब बल्लेबाजों में से एक माने जाते हैं। स्टीव स्मिथ को ऑस्ट्रेलिया का रन मशीन कहा जाता है और उनकी रन बनाने की काबिलियत की पूरी दुनिया दीवानी है। विश्व के सबसे शानदार गेंदबाजों में से एक स्टीव स्मिथ को गेंदबाजी करना किसी भी गेंदबाज के लिए बड़ी चुनौती होती है, क्योंकि उनका विकेट लेना आसान नहीं है।

स्टीव स्मिथ किसी भी बॉलिग अटैक के खिलाफ खेलने में सक्षम है, परन्तु उन्होंने एक ऐसे भारतीय गेंदबाज का नाम लिया है जिनका सामना करते समय उन्हें दिक्कत होती है। स्टीव स्मिथ ने बताया कि भारतीय हालातों में रवींद्र जड़ेजा का सामना करना काफी कठिन है। वो भारत में इस वजह से ज्यादा कामयाब हैं।क्योंकि उनकी हाथ के एक तरह की आने वाली गेंदों में से एक स्किड होती है और एक स्पिन हो जाती है। ऐसे में उन्हें काफी संभलकर खेलने की आवश्यकता होती है।

स्टीव स्मिथ ने कहा कि जडेजा की गेंदबाजी की अच्छी बात ये है कि वो लगातार एक ही लेंथ पर बॉलिग करते हैं। यही नहीं उनकी गेंदों में भिन्नता भी है जो उन्हें सबसे अलग बनाता है। अपने एक्शन में परिवर्तन लाए बिना गेंद को तेजी से डालने वाले गेंदबाज कम होते हैं, मगर जडेजा उनमें से एक हैं। उनका सामना करना एक बड़ी चुनौती होती है।

Also Read  हैप्पी बड्डे सौरव गांगुली: दादा के 5 फैसले जिन्होंने भारतीय क्रिकेट को हमेशा के लिए बदल दिया

वहीं आइपीएल 2020 को लेकर उन्होंने कहा कि मैं चाहता हूं कि हालात जितनी जल्दी हो सके सामान्य हो जाए और आइपीएल शुरू हो। मैं मैदान पर जल्दी आना चाहता हूं और कोविड 19 (कोरोना वायरस) की वजह से आइपीएल भी रुका हुआ है। हालांकि इस पर आखिरी फैसला बीसीसीआई को करना है।

Loading...