रवींद्र जडेजा से बोले धोनी, बिना मतलब मैदान पर फिसला मत करो, दिमाग में…

रवींद्र जडेजा से बोले धोनी, बिना मतलब मैदान पर फिसला मत करो, दिमाग में…

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट से संन्‍यास ले चुके हैं. माही फिलहाल इंडियन प्रीमियर लीग के इस साल के सीजन में चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स टीम की अगुआई कर रहे हैं. उनकी कप्‍तानी में आईपीएल के 14वें सीजन में चेन्‍नई की टीम ने अपने सात में से पांच मैचों में जीत दर्ज की है. धोनी खेल को लेकर अपनी समझ को लेकर जाने जाते हैं फिर वो चाहे बल्‍लेबाजी की बात हो या फिर गेंदबाजी, विकेटकीपिंग यहां तक कि फील्डिंग की भी. अब फील्डिंग को लेकर अफगानिस्‍तान के जबरदस्‍त स्पिनर राशिद खान (Rashid Khan) ने एमएस धोनी की सलाह का खुलासा किया है. उन्‍होंने बताया कि धोनी ने उन्‍हें भी वही बात कही जो टीम इंडिया के दिग्‍गज ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को कही थी.

दरअसल, राशिद खान दुनियाभर की क्रिकेट लीग में बड़े-बड़े कप्‍तानों की अगुआई में खेल चुके हैं, लेकिन वो चाहते हैं कि उन्‍हें एक बार महेंद्र सिंह धोनी की कप्‍तानी में कोई मैच खेलने का मौका मिले. यूट्यूब शो पर बातचीत में राशिद ने अपनी और धोनी की बातचीत का भी खुलासा किया. राशिद ने बताया, हमारे मैच के बाद जब भी मैंने धोनी से चर्चा की, उससे मदद मिली. पिछली बार उन्‍होंने मुझसे कहा था, फील्डिंग के दौरान तुम्‍हें अधिक सतर्कता बरतनी चाहिए. तुम मैदान पर फिसलकर गेंद को रोकते हो और थ्रो करते हो जबकि इसकी हर बार जरूरत नहीं होती. तुम आक्रामक हो जाते हो. राशिद खान सिर्फ एक है और लोग तुम्‍हें देखना चाहते हैं. अगर तुम चोटिल हो गए तब क्‍या होगा? दिमाग में इस बात को हमेशा रखो. मैंने रवींद्र जडेजा से भी यही बात कही है.

रवींद्र जडेजा हर मामले में नंबर वन

अफगानिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान राशिद खान ने कहा, मेरा सपना है कि मैं एमएस धोनी की कप्‍तानी में खेलूं. उनके साथ और उनकी कप्‍तानी में खेलने का अनुभव बहुत महत्‍वपूर्ण है. एक गेंदबाज के लिए विकेटकीपर की भूमिका काफी अहम हो जाती है. और मुझे लगता है कि उनसे बेहतर आपको कोई नहीं मिलेगा जो ये बातें समझा सके. बता दें कि राशिद खान मैदान पर हद से ज्‍यादा डाइव लगाने के लिए जाने जाते हैं. वो फील्‍ड पर काफी तत्‍पर नजर आते हैं. इसी वजह से कई बार खुद को चोटिल भी करवा लेते हैं. जहां तक बात रवींद्र जडेजा की है तो मौजूदा क्रिकेट में उनकी गिनती सर्वश्रेष्‍ठ फील्‍डर्स में की जाती है. चाहे कैच लेने की बात हो या मैदानी फील्डिंग या थ्रो की, वो हर मामले में फिट हैं.

13 छक्के और सात चौके, 28 गेंद में ठोका शतक, इस बल्लेबाज ने मैदान में ला दी सुनामी, 10 ओवरों में खड़ा किया रनों का एवरेस्ट

The post रवींद्र जडेजा से बोले धोनी, बिना मतलब मैदान पर फिसला मत करो, दिमाग में… appeared first on Justacricket.