विश्व कप के फाइनल मैच से सबक ले आईसीसी ने टेस्ट चैम्पियनशिप के लिए बना दिया ये नियम

विश्व कप के फाइनल मैच के विवादित फैसले की चारों ओर हुई आलोचना के बाद आईसीसी ने एहतियात बरतते हुए टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल मैच के लिए दो साल पहले से ही ऐसा नियम बना दिया है, जिस पर किसी को आपत्ति नहीं हो सकती है। यह तो सभी को मालूम है कि गत 14 जुलाई को लार्ड्स के मैदान में विश्व कप 2019 के टूर्नामेंट का फाइनल मैच न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। यह मैच पहले 100ओवरों में टाई हो गया और बाद में सुपर ओवर में भी टाई हो गया।

इस मैच का फैसला अधिक बाउंड्री रूल के आधार पर किया गया। इस रूल को लेकर काफी विवाद हुआ। जानेमाने लोगों ने इस नियम के लिए आईसीसी को खूब जमकर सुनाई। क्रिकट्रेकर की रिपोर्ट के अनुसार आईसीसी ने इस घटना से सबक लेते हुए टेस्ट चैम्पियनशिप के होने वाले फाइनल मैच के लिए अभी से ऐसा नियम बना दिया है जिससे किसी को आपत्ति नहीं हो सकती है। टेस्ट चैम्पियनशिप का आगाज एक अगस्त को होने वाले एशेज सीरीज के पहले टेस्ट मैच से हो जाएगा।

टेस्ट चैम्पियनशिप में नौ टीमें शािमल हैं। ये सभी टीमें दो साल तक 27 टेस्ट सीरीज खेलेंगी। प्रत्येक टीम तीन सीरीज देश में खेलेंगी और तीन सीरीज विदेश में खेलेंगी। प्रत्येक सीरीज कम से कम दो या 5 टेस्ट मैच की होंगी। प्रत्येक सीरीज के लिए अधिक से अधिक 120 अंक दिये जाएंगे। इनमें से दो टॉप टीमें 31 मार्च 2021 को फाइनल मैच खेलेंगी। यदि मैच टाई रहता है या ड्रा हो जाता है तो दोनों ही टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया जाएगा।