वेस्टइंडीज दौरा शुरू होने से पहले इस दिग्गज ने अचानक ले लिया संन्यास, BCCI हैरान

अपने खेल से सबको प्रभावित करने वाले भारतीय बल्लेबाज और आंध्र प्रदेश के कप्तान वेणुगोपाल राव ने मंगलवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की। आंध्र प्रदेश क्रिकेट संघ ने बयान में कहा कि, ‘आंध्र प्रदेश रणजी टीम के पूर्व कप्तान तथा भारत की तरफ से 16 वनडे और आईपीएल में 65 मैच खेलने वाले वेणुगोपाल राव ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की है।’

विशाखापट्टनम के 37 वर्षीय खिलाड़ी ने भारत की तरफ से वनडे में जो 11 पारियां खेली उनमें उन्होंने 218 रन बनाए जिसमें एक अर्धशतक शामिल हैं। उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 30 जुलाई 2005 को दांबुला में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। राव ने अपना आखिरी वनडे 23 मई 2006 को वेस्टइंडीज के खिलाफ बासेटेर में खेला था।

उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 30 जुलाई 2005 को डाम्बुला में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। राव ने अपना आखिरी वनडे 23 मई 2006 को वेस्टइंडीज के खिलाफ बासेटेर में खेला था। राव ने 121 प्रथम श्रेणी मैचों में 7081 रन बनाये जिसमें 17 शतक और 30 अर्धशतक शामिल हैं। आईपीएल में वह 2008 से 2014 तक डेक्कन चार्जर्स, दिल्ली डेयरडेविल्स और सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से खेले।

वेणुगोपाल राव के संन्यास पर BCCI ने कहा है कि वेणुगोपाल राव ने संन्यास से पहले बोर्ड को ऐसी कोई जानकारी नहीं दी थी। मध्यक्रम के बल्लेबाज वेणुगोपाल राव ने 121 फर्स्ट क्लास मैचों में 40.93 की औसत से 7081 रन बनाए थे और उनका बेस्ट स्कोर नाबाद 228 रन था। वहीं 137 लिस्ट ए मैचों में उन्होंने 4110 रन बनाए थे और नाबाद 115 रन उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था।