श्रीलंका दौरे के लिए टीम इंडिया का ऐसा है प्लान, मुंबई में कटेंगे कुछ दिन, देने होंगे कई टेस्ट

श्रीलंका दौरे के लिए टीम इंडिया का ऐसा है प्लान, मुंबई में कटेंगे कुछ दिन, देने होंगे कई टेस्ट

कोरोनावायरस के दौर में दुनियाभर में खिलाड़ियों को अपना काम जारी रखने के लिए कई दिनों के क्वारंटीन से गुजरना पड़ रहा है. क्रिकेट के मामले में ये काफी ज्यादा है. खास तौर पर भारतीय क्रिकेटरों के लिए ये स्थिति और मुश्किल है, क्योंकि भारत में कोरोनावायरस के मामले अभी भी रोजाना एक लाख के करीब हैं और हजार से भी ज्यादा मौतें हो रही हैं. यही कारण है कि श्रीलंका दौरे (Sri Lanka Tour) पर जाने से पहले भारतीय टीम (Indian Cricket Team) को दो हफ्तों के लिए मुंबई में ही क्वारंटीन होना होगा. इसके बाद ही टीम श्रीलंका रवाना होगी, जहां उसे 3 दिन और क्वारंटीन रहना होगा.

भारतीय टीम अगले महीने श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में सीमित ओवरों के 6 मैच खेलेगी जिसमें 3 वनडे और 3 टी20 मैच खेले जाएंगे. इसकी शुरुआत 13 जुलाई से होगी. इसके लिए भारतीय टीम मुंबई में सोमवार 14 जून से 28 जून तक होटल में ही क्वारंटीन रहेगी. इस दौरान सभी खिलाड़ियों के एक दिन छोड़कर छह आरटी-पीसीआर टेस्ट भी किए जाएंगे, जिनमें उनका नेेगेटिव पाया जाना जरूरी है.

चार्टर प्लेन से मुंबई और फिर क्वारंटीन

इस दौरे पर रवाना होने से पहले टीम के लिए वही एसओपी का पालन किया जाएगा, जो इंग्लैंड दौरे पर जाने वाली भारतीय टीम के लिए तैयार किए गए थे. इस बारे में समाचार एजेंसी पीटीआई ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अधिकारी के हवाले से बताया,

“सभी नियम वैसे ही होंगे जैसे इंग्लैंड रवाना होने के लिये अपनाये गये थे. बाहर के राज्यों से आने वाले खिलाड़ी चार्टर फ्लाइट से आयगें और कुछ कमर्शियल एयरलाइन की बिजनेस क्लास से यात्रा करेंगे. वे सात दिन तक अपने ही कमरे में आइसोलेट रहेंगे और फिर जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण में ‘कॉमन’ स्थान पर मिल सकेंगे. खिलाड़ी अलग अलग समय पर जिम सत्र में हिस्सा ले सकेंगे.”

सीरीज से पहले होगा अभ्यास

28 जून को क्वारंटीन पूरा होने के बाद भारतीय टीम कोलंबो के लिए रवाना होगी. कोलंबो पहुंचने पर भी टीम को तीन दिन क्वारंटीन में बिताने होंगे. उम्मीद है कि भारतीय टीम को व्यक्तिगत ट्रेनिंग सत्र के बाद मैच की परिस्थितियों (Match Simulations) का अभ्यास कराया जायेगा. सूत्र ने कहा, ‘‘यह उसी तरह होगा जैसा इंग्लैंड में हो रहा है. मैच की तरह की परिस्थितियां बनायी जायेंगी और टीम के अंदर ही अभ्यास कराया जायेगा. आप अपने मुख्य खिलाड़ियों को पहली ही गेंद पर आउट नहीं होने देना चाहते. हर किसी को ट्रेनिंग की जरूरत है तो ये अभ्यास मैच नहीं होंगे.”

ये भी पढ़ेंः चेन्नई सुपर किंग्स के सूरमा ने मैदान पर मचाया कोहराम, 200 की स्ट्राइक रेट से उड़ाए रन, चौके-छक्के बरसाकर दिलाई जीत