5 स्पिनर जिन्हें भारतीय क्रिकेट का भविष्य माना जा रहा है

भारतीय टीम हमेशा से स्पिन गेंदबाजों के लिए जानी जाती है। टीम के पास अनिल कुंबले, हरभजन सिंह, बिशन सिंह बेदी जैसे दिग्गज स्पिनर रहे थे। आज भी टीम के पास रविचन्द्र अश्विन, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल जैसे स्पिनर हैं। ये सभी लगातार अच्छी गेंदबाजी कर टीम की जीत में योजदान दे रहे हैं। वहीं टीम के पास कई ऐसे युवा स्पिनर हैं जो भविष्य में इनकी जगह ले सकते हैं। आज हम आपको 5 ऐसे ही युवाओं के बारे में बताने जा रहे हैं।

5. वाशिंगटन सुंदर

क्रिकेट में अभी चंद ऑफ स्पिनर बचे हैं जो अपना प्रभाव छोड़ने सफल होते हैं। सुंदर ने भारत के लिए 7 टी-20 मैच और 1 वनडे मैच खेला है। टी-20 में उन्होंने 6 की इकॉनमी से 10 विकेट लिए थे। निदाहास ट्रॉफी में उन्हें प्लेयर ऑफ द सीरीज का अवॉर्ड भी थे।

उसके बाद से उन्हें ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिला है। अब वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के लिए उनकी टीम में वापसी हुई है। सुंदर अभी 19 साल के ही हैं और भारतीय क्रिकेट टीम का भविष्य बन सकते हैं।

4. शाहबाज नदीम

झारखंड के स्पिन गेंदबाज शाहबाज नदीम को अभी तक भारत के लिए खेलने का मौका नहीं मिला था। पिछले साल उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए टीम में शामिल किया गया था लेकिन खेलने का मौका नहीं मिला था।

नदीम के नाम लिस्ट ए क्रिकेट में सबसे बेहतरीन गेंदबाजी करने का रिकॉर्ड है। उन्होंने 10 रन देकर 8 विकेट चटकाए थे। आईपीएल और इंडिया ए के लिए उनका प्रदर्शन बेहतरीन रहा है और जल्द ही भारत के लिए खेलने का मौका भी मिल सकता है।

3. मयंक मार्कंडे

मुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल 2018 में बेहतरीन गेंदबाजी करने के बाद मयंक मार्कंडे को भारतीय टीम में भी मौका मिला। यहां उन्होंने एक टी-20 मैच खेला लेकिन उसके बाद टीम से बाहर कर दिया गया।

आईपीएल 2019 में मुंबई ने उन्हें ज्यादा मौके नहीं दिए और अब उन्हें दिल्ली कैपिटल्स के साथ ट्रेंड भी कर लिया है। मयंक ने इंडिया ए के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है और इसी वजह से वह टीम का भविष्य माने जा रहे हैं।

2. श्रेयस गोपाल

भारतीय घरेलू मैचों में कर्नाटक और आईपील में राजस्थान रॉयल्स के लिए शानदार गेंदबाजी करने वाले लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल भी भारतीय क्रिकेट का इतिहास माना जा रहा है। वह बल्ले से भी टीम के लिए अहम योगदान दे सकते हैं।

गोपाल ने अभी तक 56 प्रथम श्रेणी मैच में 184 विकेट लेने का साथ ही 2431 रन भी बनाए हैं। इसके अलावा 32 लिस्ट ए मैच में उन्होंने 51 और 49 टी-20 मैच में 59 विकेट लिए हैं। इस प्रदर्शन के बाद उन्हें भारतीय टीम का भविष्य कहना गलत नहीं होगा।

1. राहुल चाहर

अंडर- 19 विश्व कप 2018 में जगह नहीं मिलने का बावजूद राहुल चाहर ने उम्मीद नहीं हारी और अब भारतीय टीम में जगह बना चुके हैं। आईपीएल 2019 में उन्होंने मुबंई इडियंस की जीत में अहम भूमिका निभाई थी।

राहुल के नाम 14 प्रथम श्रेणी मैच में 63 विकेट हैं वहीं 25 लिस्ट ए मैच में 44 विकेट हैं। टी-20 क्रिकेट में 26 मैच में चाहर के नाम 27 विकेट हैं और उनकी इकॉनमी 6.98 की है। इसी वजह से उन्हें भारतीय क्रिकेट का भविष्य माना जा रहा हैं।

Leave a Comment