Ex-Australian Under-19: क्रिकेटर जेमी मिशेल ने 1985 के भारत और श्रीलंका दौरे में यौन शोषण का दावा किया

ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट चीफ ने सोमवार (3 जनवरी) को बताया कि वे 80 के दशक में भारत और श्रीलंका दौरे पर गए एक अंडर-19 क्रिकेटर के साथ हुए रेप के मामले में पुलिस जांच में मदद कर रहे हैं. साथ ही दावा किया गया कि उन्होंने इस क्रिकेटर की मदद की है. जेमी मिचेल नाम के क्रिकेटर ने खुलासा किया था कि 1985 में जब वे ऑस्ट्रेलिया अंडर 19 टीम के साथ भारत और श्रीलंका के दौरे पर गए तब टीम के अधिकारी ने उनके साथ रेप किया था. ऑस्ट्रेलिया के न्यूज चैनल एबीसी ने 2 जनवरी को इस बारे में रिपोर्ट दी थी.

इस दौरे के बाद टीम के कई खिलाड़ियों के परिवार की तरफ से मैनेजमेंट के खिलाफ शिकायत की गई थी. लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इन शिकायतों पर कोई कार्रवाई नहीं की थी. रिपोर्ट सामने आने के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का बयान सामने आया. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बयान जारी कर कहा, हम जेमी मिचेल का सम्मान करते हैं और उनके साहस को सलाम करते हैं कि उन्होंने अपने अनुभव के बारे में बात की. हम किसी तरह के गलत बर्ताव को सहन नहीं करते. ऐसे में पुलिस जांच में पूरी मदद की जा रही है.

मिशेल ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को अपने वकीलों द्वारा जारी एक बयान में कहा, “मेरे क्रिकेट जीवन का मुख्य आकर्षण होने के बजाय, उस दौरे ने मुझे कई वर्षों में आघात और संकट का कारण बना दिया है।”

मिशेल ने आरोप लगाया था कि 1985 में कोलंबो में भारत और श्रीलंका के दौरे की आखिरी रात में उनका यौन उत्पीड़न किया गया था।

“क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के पास इस मुद्दे का सामना करके और सही काम करके खुद को अलग करने का मौका है।

“और इसका मतलब है कि पारदर्शिता, कई सवालों के उचित जवाब से शुरू होती है। मैं क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को उनकी एक सूची भेजने जा रहा हूं।”

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ग्रेग चैपल, जो उस समय राष्ट्रीय चयनकर्ता भी थे, ने आरोपों पर प्रतिक्रिया व्यक्त की और उम्मीद जताई कि इससे सहानुभूतिपूर्वक निपटा जाएगा।

मिचेल ने क्या कहा

उन्होंने कहा, “मुझे उम्मीद है कि सीए मानवीय तरीके से जवाब देगा और संगठन की रक्षा करने की कोशिश करने के बजाय व्यक्तियों के साथ सहानुभूतिपूर्वक व्यवहार करेगा।”

“यह एक चौंकाने वाला खुलासा था। मुझे उम्मीद थी कि ऐसा कुछ नहीं हुआ होगा, लेकिन यथार्थवाद आपको बताता है कि जीवन के अन्य क्षेत्रों ने इस तरह की घटनाओं को देखा है।”

चैपल ने की मदद की उम्मीद

वहीं उस समय ऑस्ट्रेलिया के नेशनल सेलेक्टर रहे ग्रेग चैपल ने मामला सामने आने के बाद एक मीडिया चैनल से कहा कि वह आरोपों से चकित हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया मानवीय तरीके से जवाब देगा और संगठन को बचाने के बजाए पीड़ित लोगों के साथ संवेदना रखेगा. यह हैरान करने वाला खुलासा है. मुझे उम्मीद थी कि ऐसा कुछ नहीं हुआ होगा लेकिन हकीकत कहती है कि जीवन के दूसरे हिस्सों में इस तरह की चीजें हो रही थीं.’